IAAF कप: ट्रिपल जंप में पदक जीत अरपिंदर ने रचा इतिहास, नीरज चोपड़ा ने किया निराश..

25 वर्षीय अरपिंदर साल में एक बार होने वाली इस प्रतियोगिता में एशिया पैसेफिक टीम का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. उन्होंने जकार्ता में 16.77 मीटर कूद लगाई थी जबकि उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 17.17 मीटर है जो उन्होंने 2014 में किया था. कोई भी भारतीय अब तक कांटिनेंटल कप में पदक जीत पाया था जिसे 2010 से पहले आईएएएफ विश्व कप के नाम से जाना जाता था.

Updated: September 10,2018

ओस्ट्रावा (चेक गणराज्य):

ट्रिपल जंप में एशियन गेम्‍स 2018 में स्‍वर्ण पदक जीतने वाले भारत के अरपिंदर सिंह ने आईएएएफ कांटिनेंटल कप में रविवार को कांस्य पदक जीतकर नया इतिहास रचा, लेकिन जैवलिन थ्रो के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा उम्‍मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए और निराशाजनक छठे स्थान पर रहे. अरपिंदर इस टूर्नामेंट में पदक जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं. जकार्ता एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले अरपिंदर ने अपने पहले प्रयास में 16.59 मीटर कूद लगाई. इसके बाद अगले दो प्रयासों में वह 16.33 मीटर ही कूद लगा पाए और इस तरह से दो एथलीटों के बीच फाइनल कूद में जगह बनाने में नाकाम रहे. हालांकि यह भारतीय कांस्य पदक हासिल करने में सफल रहा.

25 वर्षीय अरपिंदर साल में एक बार होने वाली इस प्रतियोगिता में एशिया पैसेफिक टीम का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. उन्होंने जकार्ता में 16.77 मीटर कूद लगाई थी जबकि उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 17.17 मीटर है जो उन्होंने 2014 में किया था. कोई भी भारतीय अब तक कांटिनेंटल कप में पदक जीत पाया था जिसे 2010 से पहले आईएएएफ विश्व कप के नाम से जाना जाता था. अमेरिका के मौजूदा ओलिंपिक और विश्व चैंपियन क्रिस्टियन टेलर ने 17.59 मीटर कूद लगाकर आसानी से स्वर्ण पदक जीता. उन्होंने बुर्किन फासो के ह्यूज फैब्राइस जांगो को हराया जिन्होंने 17.02 मीटर कूद लगाई.

पुरुषों के जैवलिन थ्रो में राष्ट्रमंडल खेल और एशियाई खेलों के मौजूदा चैंपियन चोपड़ा आठ खिलाड़ियों के बीच 80.24 मीटर जैवलिन फेंककर छठे स्थान पर रहे. चोपड़ा ने 80.24 मीटर से शुरुआत की और दूसरे प्रयास में 79.76 मीटर ही जैवलिन फेंक पाए. यह इस सत्र में चोपड़ा का सबसे खराब प्रदर्शन है. उन्होंने डायमंड लीग सीरीज के इयुगेन चरण में 80.81 मीटर जैवलिन फेंका था. इसके अलावा अन्य सभी प्रतियोगिताओं में उन्होंने नियमित तौर पर 85 मीटर से अधिक भाला फेंका था. उन्होंने एशियाई खेलों में 88.06 मीटर के राष्ट्रीय रिकार्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता था. मौजूदा ओलंपिक चैंपियन जर्मनी के थामस रोहलर ने स्वर्ण पदक जीता. उन्होंने दो खिलाड़ियों के फाइनल में चोपड़ा के एशिया पैसेफिक टीम के साथी चाओ सुन चेंग को हराया. चेग ने 81.81 मीटर जबकि रोहलर ने 87.07 मीटर जैवलिन फेंका.

वीडियो: स्प्रिंट क्‍वीन दुती चंद से खास बातचीत

पुरुषों की 400 मीटर दौड़ में राष्ट्रीय रिकॉर्डधारक मोहम्मद अनस ने 45.72 सेकेंड का अच्छा समय निकाला लेकिन वह पांचवें स्थान पर रहे. एशिया पैसेफिक के उनके साथी कतर के अब्दुल्लाह हारून ने 44.72 सेकेंड के साथ स्वर्ण पदक जीता. हारून ने एशियाई खेलों में स्वर्ण और अनस ने रजत पदक जीता था. पुरुषों की 1500 मीटर दौड़ में जिनसन जॉनसन तीन मिनट 41.72 सेकेंड के साथ छठे स्थान पर रहे. उन्होंने शनिवार को 800 मीटर दौड़ में भी भाग लिया था जिसमें वह सातवें स्थान पर रहे थे. इस बीच सुधा सिंह 3000 मीटर स्टीपलचेज में अपनी दौड़ पूरी नहीं कर पाईं. उन्होंने एशियाई खेलों में रजत पदक जीता था. शनिवार को पीयू चित्रा महिलाओं की 1500 मीटर दौड़ में चौथे स्थान पर रही थीं. (इनपुट: एजेंसी)

Advertisement

Advertisement