BEST OF WORLD CUP 2018: 'जो' पिछले तीन विश्व कप में नहीं हुआ, वह इस बार हो गया

BEST OF WORLD CUP 2018: पिछले तीन विश्व कप या कहें पिछले तीन फाइनल में जो नहीं हुआ, वह इस बार हो गया. उम्मीद की जा सकती है कि अब 2022 में कतर में खेले जाने वाला विश्व कप और भी ज्यादा रोमांचक होगा. और कतर में होने  वाला विश्व कब भी आयोजन के लिहाज से ही एक अलग इतिहास रच देगा

Updated: November 03,2018

नई दिल्ली:

रूस में रविवार को समाप्त हुए 21वें फीफा विश्व कप को अगर अभी तक का सबसे रोमांचक विश्व कप करार दिया जाए, तो एक बार को गलत नहीं ही होगा. शायद इसकी एक वजह सोशल मीडया का होना भी है, जो साल 2014 में आज जितनी मजबूत नहीं थी. करोड़ों हिंदुस्तानियों ने पूरे टूर्नामेंट का जमकर लुत्फ उठाया. टूर्नामेंट में कई रिकॉर्ड बनें, लेकिन Best of World Cup 2018 के खास पलों के तहत इस बार एक अलग ही बात देखने को मिली. पिछले तीन विश्व कप या कहें पिछले तीन फाइनल में जो नहीं हुआ, वह साल 2018 के फाइनल (मैच रिपोर्ट) में  हो गया. उम्मीद की जा सकती है कि अब 2022 में कतर में खेले जाने वाला विश्व कप और भी ज्यादा रोमांचक होगा. और कतर में होने  वाला विश्व कब भी आयोजन के लिहाज से ही एक अलग इतिहास रच देगा. 

पहले कतर विश्व कप की बात कर लेते हैं. बता दें कि टूर्नामेंट के इतिहास में यह पहला संस्करण होगा, जब मई, जून या जुलाई के महीने में नहीं खेला जाएगा. 2022 में कतर में खेले जाने वाला विश्व कप का आयोजन नवंबर-दिसंबर में होगा, तो वहीं फाइनल मुकाबला 22 दिसंबर को खेला जाएगा, जो कतर का राष्ट्रीय दिवस भी है. उम्मीद है कि कतर का आयोजन फुटबॉल विश्व कप की लोकप्रियता को और ऊंचाई प्रदान करेगा. 

यह भी पढ़ें : FIFA WORLD CUP 2018: इंग्‍लैंड के हैरी केन को 'गोल्‍डन बूट', टूर्नामेंट में सर्वाधिक 6 गोल दागे​

अब बात उस पहलू की, जो पिछले चार विश्व कप में पहली बार घटित हुआ. आपको बता दें कि पिछले तीन विश्व कप (2006, 2010, 2014) के फाइनल मुकाबलों में खिताब के लिए जमकर जद्दोजहद हुई. ये तीनों ही मुकाबले एक्स्ट्रा टाइम में गए. इनमें भी साल 2006 का संस्करण का फैसला पेनल्टी शूट-आउट के जरिए हुआ, लेकिन इस साल फ्रांस की खिताबी जीत में ऐसा नहीं देखने को को मिला. 

VIDEO: फ्रांस ने क्रोएशिया को हरा दूसरी बार विश्व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया.

रूस में खत्म हुए विश्व कप का फाइनल एकदम एकतरफा बन गया. हालांकि, फाइनल में गेंद पर कब्जा क्रोएशिया का ज्यादा रहा, लेकिन फ्रांसीसी टीम ने इस मुकाबले को 4-2 से जीतकर एकतरफा बना दिया. इससे हुआ यह कि पिछले चार विश्व कप में ऐसा पहली बार हुआ, जब फाइनल का परिणाम तय 90 मिनट में निकला आया. और यह खिताबी भिड़ंत एक्स्ट्रा टाइम या पेनल्टी शूट-आउट में नहीं पहुंची 
 

Advertisement

Advertisement